top of page
अधूरा - ख़्वाब, इश्क़ और जिंदगी

यह पुस्तक कवि वेदप्रकाश के कविताओं का संग्रह है, जिसमें आपने प्रेम एवं जीवन के भिन्न बिना पहलुओं पर प्रकाश डाला है, चुकी उनका प्रेम अधूरा ही रह गया, कई ख़्वाब है जो अधूरे है और कवि की जिंदगी भी अधूरी है अर्थात वे केवल 18 वर्ष के है अतः उन्होंने अपनी पुस्तक नाम ही "अधूरा" रखा है। 
आशा करते है आपको यह पुस्तक पसंद आई होगी।

अधूरा - ख़्वाब, इश्क़ और जिंदगी

SKU: IOK197
₹170.00Price
  • Vedprakash Chauhan

bottom of page